Main Menu

‘ताइवानएक्सपो’ में नजर आएंगी ताइवान की उन्नत तकनीक

नई दिल्ली :ताइवान की नवीनतम उन्नत तकनीकों से देशवासियों को रूबरू कराने के लिए दिल्ली के प्रगति मैदान में 17 मई से तीन दिवसीय ‘ताइवानएक्सपो’ का आयोजन किया जाएगा। ताइवान के अग्रणी व्यापार प्रचार संगठन ताइवान विदेश व्यापार विकास परिषद (TAITRA) की ओर से पहली बार भारत में यह आयोजन कराया जाएगा।

इस व्यापार मेले में विषय विशेष आधारित आठ पैवेलियनों (मंडपों) के जरिए ताइवान की आधुनिकतम तकनीकों, पर्यावरण मित्र उत्पादों और उद्योग कौशलों की जानकारी दी जाएगी। इसमें आठ विशेष उद्योग क्षेत्रों का प्रदर्शन किया जाएगा जो हरित उत्पादों, स्मार्ट सिटीज, ईवी अलायंस (इलेक्ट्रिक वाहन संबंधी गठबंधन), स्वास्थ्य देखभाल संबंधी सेवाओं, पर्यटन, खाद्य प्रसंस्करण तंत्र, वस्त्र, ऑटोमोबाइल, खेल, कृषि, सूचना व संचार प्रौद्योगिकी संबंधी उत्पादों, मेंडरिन शिक्षा और व्यापार सेवा सहित उद्योग को विस्तार देने वाली सेवाओं के प्रति समर्पित होंगे।

इस बहुप्रतीक्षित व्यापार मेले में ताइवान से करीब 130 प्रदर्शक शामिल होंगे, जो उच्च क्षमता वाले उत्पादों और सेवाओं को पेश करेंगे।

इस कार्यक्रम की धमाकेदार शुरुआत के लिए नई दिल्ली में गतिविधियों की एक शृंखला आयोजित की जाएगी। इसके तहत व्यापार मेले के उद्घाटन के मौके पर पत्रकार सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। मेले में इसके अलावा परस्पर व्यापार बैठकें, ‘स्मार्ट मेडिकल इनोवेशन (उन्नत चिकित्सकीय नवाचार)-स्वास्थ्य देखभाल का पूर्ण समाधान’ विषय पर सेमीनार, ‘ताइवान की बेहतरीन उद्योग प्रवृत्तियां’ विषय पर सेमीनार, भारत-ताइवान ईवी (इलेक्ट्रिक वाहन विषय संबंधी) गोष्ठी, ताइवानी संस्कृति की झांकी दिखाने वाली प्रस्तुतियां और भी कई दूसरे आकर्षक कार्यक्रम आयोजित होंगे।

पत्रकार सम्मेलन के दौरान ‘एक्सप्लोरिंग द नेक्स्ट हाइलैंड थ्रू इंडस्ट्री 4.0, एआई एण्ड कॉ-क्रिएशन’ विषय पर एक सत्र का आयोजन किया जाएगा, जिसमें उद्योग संबंधी प्रमुख बिंदुओं पर एडवान्टेक कंपनी के एशिया प्रशांत और अंतरमहाद्वीपीय क्षेत्र के सेल्स हेड श्री विन्सेंट चांग अपने विचार साझा करेंगे।

कार्यक्रम में टीएआईटीआरए, फिक्की और दूसरे संबद्ध सहयोगियों के प्रतिनिधि भी शिरकत करेंगे। इस व्यापार मेले के जरिए दो देशों के बीच व्यापार संबंधों की शुरुआत को मजबूती मिल सकेगी।

गौरतलब है कि हाल ही टीएआईटीआरए की ओर से भारत के कुछ प्रतिनिधियों को ताइवान के भ्रमण पर ले जाया गया था, जहां उन्हें टीट्रयू मेडिकल टेक्नोलॉजी कार्पोरेशन, स्प्रिंग पूल ग्लास इंडस्ट्री कं. लिमिटेड, क्यूओ चांग मशीनरी कं. लिमिटेड, मोका इंक, हू लेन एसोसिएट, ताई-हो हेल्थकेयर टेक्नोलॉजी कं. लिमिटेड और हेयर ओराइट इंटरनेशनल कॉर्पोरेशन आदि की औद्योगिक व निर्माण इकाइयों से रूबरू कराया गया। यह यात्रा दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंधों को बढ़ावा देने के लिए टीएआईटीआरए के प्रचार अभियान के तहत आयोजित की गई थी।

इस परिचयात्मक यात्रा के दौरान मीडिया को संबोधित करते हुए टीएआईटीआरए के चेयरमैन श्री जेम्स हुआंग ने कहा, ‘हालांकि, सरकार की ओर से वर्ष 1990 की दक्षिणबंध (साउथबाउण्ड) नीति के तहत दक्षिण एशिया में विस्तार का लगातार प्रयास किया जाता रहा है, लेकिन वर्तमान समय में साई सरकार की ओर से दक्षिण एशिया संबंधी नीतियों में 1990 की इस नीति का समावेश नई दिशा और नई कोशिशों के साथ किया जा रहा है। इस समावेश के कारण पूर्व की दक्षिणबंध नीति और नई दक्षिणबंध नीति में बहुत बड़ा अंतर है। वर्तमान में ताइवान की नई दक्षिणबंध नीति की मूल भावना, नए दक्षिणबंध देशों के साथ व्यापक और दीर्घावधि के विनिमय और संबंधों पर आधारित है, जो उद्योग, निवेश, व्यापार, प्रतिभा, संस्कृति और पर्यटन आदि क्षेत्रों में एकाधिक विनिमय और सहयोग के परस्पर प्रयासों के माध्यम से सार्थक होंगे।’

उन्होंने कहा, ‘आर्थिक और व्यापारिक सहयोग, संसाधन साझाकरण, स्थानीय जुड़ाव, प्रतिभा विनिमय पर जोर देते हुए यह नीति आर्थिक और व्यापारिक सहयोग की दिशा में स्थानीय खपत, आधारभूत ढांचे और औद्योगिक परिवर्तनों को स्वीकार करती है। साथ ही औद्योगिक मूल्य शृंखला एकीकरण, घरेलू मांग की बाजार लिंक और आधारभूत अभियांत्रिकी सहयोग को मजबूत करना चाहती है। हर एक क्षेत्र ताइवान की आम और अनुपूरक संपन्नता और सहभागी देशों की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए कार्य करता है।’






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *